मुख्य बात
 

पीता हूँ रोज-ए-अब्र ओ शबे-माहताब में

मिर्जा गालिब कितने महान शायर हैं यह जानने के लिए-- या यह मानने के लिए कि वह कितनी गहरी समझ और गहरी अभिव्यक्ति के शायर हैं, उनकी सम्पूर्ण रचनावली से गुजरने की जरूरत नहीं है। इसके लिए उनका कोई एक शेर ही काफी है। आज अपने घर के ऊपर और आसपास छायी बदली को ...

More:

पाकिस्तानी सारा संग अध्ययन की ‘इश्क क्लिक‘

प्रभुनाथ शुक्ल

वालीवुड के बड़े पर्दे पर ‘लव‘ पर आधारित ‘इश्क क्लिक‘ 22 जुलाई को पूरे देश भर के सिनेमा घरों में रीलिज होने जा रही है। फिल्म का टेलर और म्यूजिक टीवी चैनलों और यूट्यूब पर धमाल मचा रहा है। फिल्म का प्रोमो और गीत ‘माना तुझी को खुदा‘ खूब चर्च...

More:

अलीगढ़ में अवैध होर्डिंग्स की बाढ़, युवा वकील ने मेयर और नगरायुक्त को कोर्ट में खींचा

अलीगढ शहर में जगह जगह रोड के किनारे लगे बड़े बड़े अवैध होर्डिंग और यूनिपोल हटाने को लेकर आरटीआई एक्टिविस्ट और युवा अधिवक्ता प्रतीक चौधरी ने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में वाद दायर किया है. कोर्ट ने नगरायुक्त और मेयर को 29 अगस्त को तलब किया है. युवा अधिव...

More:

केबल-टीवी पर अब पशु क्रूरता नहीं दिखाई जा सकेगी

भोपाल । देश में अब केबल और टेलीविजन पर किसी भी रुप में पशुओं के प्रति क्रूरता या हिंसा चित्रित नहीं की जा सकेगी तथा पशुओं के लिये अपहानि कारित करने वाले अवैज्ञानिक विश्वास को प्रोत्साहित नहीं किया जा सकेगा और न ही इससे संबंधित विज्ञापन दिखाये जा सकें...

More:

गुजरात के विनाश माडल को ध्वस्त करेगी दलित-मुस्लिम एकता!

भूमि अधिकार और स्वाभिमान की लड़ाई इस देश की लड़ाई, यूपी में गूंजा ‘गाय की पूंछ तुम रखो, हमको हमारी जमीन दो’....

लखनऊ । ऊना, गुजरात में गौरक्षकों द्वारा दलितों की पिटाई के बाद ‘गाय की पूंछ तुम रखो, हमको हमारी जमीन दो’ के नारे के साथ पूरे देश में दलित अत्...

More:

भावनाओं की राजनीति दक्षिण पंथी राजनैतिक पार्टियां का ब्रह्मास्त्र है

दक्षिण पंथी राजनैतिक पार्टियां सिर्फ़ और सिर्फ़ भावनाओं की राजनीति करती हैं . ये पार्टियां जनता की भावनाओं का राजनीतिकरण करती हैं . इनका हथियार हैं भावनाओं का दोहन . ये जन आस्था , धर्म ,राष्ट्रीयता , संस्कृति , संस्कार , सांस्कृतिक विरासत बचाने का दावा...

More:

मुक्तिबोध का वैश्विक दृष्टिकोण : सन्दर्भ और महत्त्व

हिन्दू कालेज में मुक्तिबोध पर व्याख्यान : मुक्तिबोध की पेचीदा भाषा में हम अपनी दुनिया को समझ सकते हैं। वे इसी पेचीदा भाषा में आधुनिकता को देख रहे हैं, फासीवाद को देख रहे हैं और आगे की दुनिया को दिखा रहे हैं। मुक्तिबोध का संदर्भ स्वातन्त्र्योत्तर है। ...

More:

बिहार के नवादा में वरिष्ठ पत्रकार का पुत्र लापता

नवादा : बिहार के नवादा जिला में एक दैनिक अखबार के एक वरिष्ठ पत्रकार ने अपने पुत्र के लापता होने को लेकर नगर थाना में आज शिकायत दर्ज करायी है. पुलिस उपाधीक्षक संजय कुमार पाण्डेय ने बताया कि एक दैनिक अखबार के नवादा के ब्यूरो प्रमुख साकेत बिहारी ने अपने...

More:

जयन्ती 26 अगस्त 2016 पर विशेष : मदर टरेसा यानि शांति एवं सेवा के शंखनाद का एक नाम

माँ दुनिया का सबसे अनमोल शब्द है। एक ऐसा शब्द जिसमें सिर्फ अपनापन, सेवा, समर्पण और प्यार झलकता है। माँ हमारे जीवन में सबसे महत्वपूर्ण स्थान रखती है। माँ शब्द जुबान पर आते ही एक नाम सहज ही सामने आता है और वह हैं मदर टरेसा का। कलियुग में वे मां का एक  ...

More:

latest20


अभी आप भड़ास के सब डोमेन Vichar पर हैं. मुख्य पेज पर जाने के लिए यहां क्लिक करें: Bhadas4Media

popular20